Monday, December 8, 2008

सौम्या जन्मदिन मुबारक...

सौम्या विश्वनाथन के केस का क्या हुआ... क्या पुलिस के हाथों कुछ नया लगा... क्या कुछ नए गवाह मिलें... या फिर बस इतना कि क्या पुलिस इस बारे में सोच भी रही है... कही भूल तो नहीं गई वो इस केस... ये सारे सवाल मेरे मन में कुछ देर पहले ही कौंधे हैं... ऐसा बिल्कुल नहीं है कि मैं सौम्या के केस को बहुत नज़दीकी से फ़ॉलो कर रही हूँ। असलियत ये हैं कि आज सुबह पेपर पढ़ते वक़्त श्रद्धांजलि के कॉलम पर नज़र पढ़ी तो देखा कि आज सौम्या का जन्मदिन है। वो आज 26 साल की हो गई है। सौम्या के हंसते हुए उस फ़ोटो के नीचे लिखा हुआ था कि हमें तुम्हें कभी नहीं भूल पाएगें... मम्मी, पापा, दीदी और भैया। शायद सच्चाई यही है कि इस तरह किसी भी हादसें में मारे जानेवाले लोगों को कुछ वक़्त बाद हर कोई भूला देता है। जब कुछ नया या ब्रेकिंग घुमाव आता है, तब मीडिया की नज़र उस पर पड़ती है और फिर मीडिया अपनी आंखों से वो हमें दिखाता है.. बहुत हद तक ये संभावित है कि अगर विधानसभा चुनाव के नतीज़ों का दिन न होता तो कोई न कोई चैनल सौम्या को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए विशेष चला रहा होता। लेकिन, आज उसे याद करने का वक़्त नहीं है... फिर भी सच्चाई यही है कि सौम्या का आज जन्मदिन है। सौम्या जन्मदिन मुबारक...

1 comment:

sachin sharma said...

दीप्ति दुबे...शायद आपको मोहल्ला पर पढ़ा है। दिल्ली की बरसात को लेकर या फिर शायद किसी कुत्ते (कुतिया कहना अच्छा नहीं लग रहा) की पोस्ट को लेकर। अगर आप वही हैं तो बहुत भयंकर लिखती हैं आप। वैसे आप काफी तारीफ बटोर चुकी होंगी लेकिन फिर भी शुभकामनाएँ, कि ऐसी हिम्मत कम ही लोगों में होती हैं।