Wednesday, May 20, 2009

मानसिक रोगी ...

कल शाम से ही एक नम्बर से मुझे लगातार फ़ोन आ रहे थे। मैंने एक बार रीसीव भी किया सामनेवाले ने पूछा मिश्राजी का नम्बर है क्या मैंने मना किया और फ़ोन कट कर दिया। उसके बाद फिर उस नम्बर से फोन आएं मैंने नहीं उठाया। फिर रात क़रीब 10 बजे फोन बजा। मैंने देखा तो वही नम्बर था। मैंने सोचा इस बार खूब सुनाती हूँ इसे। मेरे फोन रीसीव करते ही उसने बेहद अश्लील बातें करना शुरु कर दी। मेरे चिल्लाने पर उसने फोन कट कर दिया। उसके बाद से वो नम्बर बंद हैं। मैंने उसी वक़्त क्राइम अगेन्सट वूमन में उस नम्बर के खिलाफ़ शिकायत दर्ज़ कर दी। रातभर मन में उलझन रही। ऐसा नहीं है कि ऐसा कोई फोन पहली बार आया हो या फिर कभी किसी ने इस तरह की घटिया और अश्लील बातें न की हो। फिर भी रात भर मैं इस बारे में सोचती रही। सोचती रही किस मानसिकता के साथ लोग इस तरह की हरकतें करते हैं। किसी अंजान नम्बर पर फोन करना उसे यूँ परेशान करने में उन्हें कौन सी खुशी मिलती होगी। रॉन्ग नम्बर और फोन पर इस तरह की अश्लील बातें उतनी ही पुरानी है जितना कि फोन। पहले लोग लैन्ड लाइन पर इस तरह की हरक़तें करते थे, तो उसके तोड़ के रूप में कॉलर आइडी इजाद हुआ। उससे इस तरह की हरकतें कुछ कम भी हुई। लेकिन, मोबाइल फोन पर तो सीधे ही नम्बर आ जाता है बावजूद इसके भी लोग ऐसी हरकतें करते हैं। मैंने इस घटना के सीधे बाद शिकायत कर दी लेकिन, फिर भी मन में एक टीस बनी हुई है कि ये किस तरह की हरकतें हुई। आखिर समाज के ये मानसिक रोगी कम क्यों नहीं हो रहे हैं। क्यों ये बने हुए हैं। कई बार इस तरह की हरकतों में अच्छे घरों के पढ़े लिखे लड़के शामिल पाएं गए हैं। फोन पर इस तरह से किसी लड़की को अश्लील बातें कहने के पीछे कौन सा सुख छुपा होता हैं। आज तो मोबाइल के नम्बर कुछ यूँ बदले जाते हैं जैसे कि टिशू पेपर हो। यूज़ एण्ड थ्रो के इस ज़माने में सब कुछ बेमानी हो गया है। इन्टरनेट से लेकर मोबाइल फोन। बसों से लेकर सड़क पर चलते हर जगह लोगों के दिमाग का ये कचरा गाहे बगाहे निकलता रहता हैं...

4 comments:

HEY PRABHU YEH TERA PATH said...

बडी ही खराब मानसिकता वाले होते है ऐसे लोग

आप बिल्कुल ऐसी बातो से परेशान हो। शिकायत करे।

Atmaram Sharma said...

बहादुर लड़की को जो करना चाहिए उसने वही किया. शाबाश.

अनिल कान्त : said...

purane samay mein jab land line no. hota tha to wo khaskar achchhe gharon mein hota tha ...aur unke ladke bhi yahi sab karte the

iska matlab ki koi kisi bhi parivar se kaisa bhi ho sakta hai
gandi mansikta aur gandi soch rakhna hi ajeeb lagta hai mujhe

pata nahi in sab se kya sukh mil jata hoga unhein

कुश said...

बिलकुल ठीक किया.. पिछले सप्ताह ही हमारी भाभी जी को इसी तरह किसी ने परेशान किया था.. फोन का नंबर ट्रेस किया और भाईसाहब को पकड़ लिया.. बीवी बच्चो वाले आदमी थे.. पुरे मोहल्ले के सामने दोबारा ऐसा नहीं करने की कसम खायी है.. पता नहीं उनकी पत्नी अब उन्हें कितनी इज्जत देगी..